मूलांक 9 - mulank 9 in numerology

मूलांक 9 - mulank 9 in numerology



जिन व्यक्तिओ का जन्म किसी भी माह की 9.18 या 27 तारीख को हुआ है तो उनका मूलांक 9 होगा। मूलांक 9 का स्वामी ग्रह मंगल हैं. मंगल उत्साह और ऊर्जा का द्योतक ग्रह है अत: मूलांक 9 वाले काफ़ी उत्साही स्वभाव के होते हैं।












ये ताकतवर शरीर के होते हैं। आवाज भारी तीखी और ऊंची होती है। ये किसी भी परिस्थिति से निबटने का माद्दा रखते हैं। ये अनुशासन प्रिय और सिद्धांत के पक्के होते हैं।


शिक्षा


यदि इनके शिक्षा की बात की जाय तो ये लोग प्रायः ये शिक्षा के क्षेत्र में तीव्र होते हैं। इनमें किसी भी विषय को ग्रहण करने की अथाह शक्ति होती है यही कारण है कि ये उच्च स्तर की शिक्षा प्राप्त करने में सफ़ल रहते हैं। हो सकता है कि बचपन में इनकी शिक्षा में कुछ व्यवधान रहें अत: कुछ लोगों को शिक्षा बीच में ही छोडनी पड जाती हो लेकिन ज्यादार की शिक्षा अच्छी होती है। कला और विज्ञान में इनकी अच्छी रुचि रहती है।



आर्थिक स्थिति




यदि इनके आर्थिक स्थिति की बात की जाय तो इनकी आर्थिक स्थिति परिवर्तनशील रहती है। ये खर्चे खूब करते हैं लेकिन इनके पास जमीन जायदाद अच्छी होती है। इन्हें ससुराल से भी धन मिलता रहता है। इन्हें कुछ जोखिम भरे कामों से भी धन मिलता है लेकिन इन्हें उन मामलों में सावधानी से काम लेना चाहिए। यानी कि कुछ मिलाकर इनकी आर्थिक स्थिति को अच्छा कहा जाएगा।



विवाह


यदि विवाह या प्रेम संबंधों की बात की जाय तो इनके प्रेम सम्बन्ध स्थाई नहीं रहते, गुस्से, स्वाभिमान या अभिमान के कारण भी इनके प्रेम सम्बंधों को टूटते हुए देखा गया है। ये सुंदर और आज्ञाकारी जीवनसाथी का साथ चाहते हैं। लेकिन विलासिता की प्रवृत्ति के कारण इनके दाम्पत्य जीवन में परेशानियां आ सकती हैं। इन्हें संतान सुख साधारण मात्रा में ही मिलता है।



कार्य


यदि इनके कार्यक्षेत्र की बात की जाय तो मूलांक 9 वाले जोखिम उठाने वाले व्यापारों में अधिक देखे गए हैं। ये इंजीनिअर, डाक्टर, आग या बिजली से सम्बंधित कामों से जुड कर काम करते हैं। इसके अलावा ये राजनीति, होटल सम्बंधी काम,टूरिज्म, घुडसवारी या सर्कस से जुडे काम भी कर सकते हैं। 




स्वास्थ्य

रोग और मूलांक: जब भी आपके जीवन में रोग की स्थिति आयेगी तब आपको क्रोध, झल्लाहट दुर्घटना, चोट, अंग शैथिल्य, हृदयरोग, रक्तचाप आदि पीड़ा देंगे। 




शुभ

इनके लिए 9, 18 व 27 तारीखे और रविवार, मंगलवार, सोमवार और गुरुवार के दिन शुभ रहते हैं। रंगों की बात करें तो इनके लिए लाल व गुलाबी रंग अनुकूल होते हैं। 




जीवन के महत्वपूर्ण वर्ष - 9, 18, 27, 36, 45, 54, 63, 72, 81 आदि। शुभवार - मंगलवार, गुरूवार एवं शुक्रवार। शुभ रंग - गुलाबी, गहरा लाल, सफेद या पीला। शुभ दिशा - पूर्व, उत्तर पूर्व, उत्तर पश्चिम। । 


अपनी numerology report प्राप्त करने के लिए contact करें click here  

Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

Hinduism