धन बचाने के वास्तु टिप्स vastu tips for money


किसी भी मानुष के लिए  धन कमाना जितना जरूरी है उतना ही धन बचाना भी आवश्यक है। लेकिन कई बार आप कमाते बहुत है तब भी धन बचाकर नहीं रख पाते हैं, sudden expenses  आकर बजट बिगाड़ जाते हैं। वास्तुशास्त्र में कुछ सामान्य उपाय बताए गये हैं जिन्हें आजमाने से आकस्मिक खर्चों में कमी आती है और बचत बढ़ने लगता है।








vastu tips for saving money 


धन रखने की दिशा - direction of money

धन में वृद्धि और बचत के लिए तिजोड़ी अथवा Almirah जिसमें धन रखते हों उसे घर दक्षिण की दिवार से सटा कर इस प्रकार रखें कि, इसका मुंह उत्तर दिशा की ओर रहे। तिजोरी घर के south-west हिस्से में रखना अच्छा रहता है लेकिन इस हिस्से में कोई गड्डा या खिड़की नही होनी चाहिए 

बहता हुआ नल 

नल से पानी का लगातार टपकते रहना वास्तुशास्त्र में financial loss का बड़ा reason माना गया है, जिसे बहुत से लोग अनदेखा कर जाते हैं। वास्तु के नियम के अनुसार नल से पानी का टपकते रहना धीरे-धीरे धन के खर्च होने का संकेत होता है। इसलिए नल में खराबी आ जाने पर तुरंत बदल देना चाहिए।

दीवार पर लटकाएं धातु का सामान 

शयनकक्ष में कमरे के प्रवेश द्वार के सामने वाली दीवार के बाएं कोने पर METAL की कोई चीज लटकाकर रखें। वास्तुशास्त्र के अनुसार यह स्थान wealth area होता है। यहाँ धातु का मतलब ताम्बा, सोने या चांदी  से है  


घर में नहीं रखें कबाड़ - clutter

ये आजकल घरो की सबसे बड़ी समस्या और वास्तु के सबसे बड़े DEFECTS में से एक - घर में टूटे-फूटे बर्तन एवं कबाड़ को जमा करके रखने से घर में नकारात्मक उर्जा का संचार होता है। टूटा हुआ बेड एवं पलंग भी घर में नहीं रखना चाहिए  बहुत से लोग घर की छत पर अथवा सीढ़ी के नीचे कबाड़ जमा करके रखते हैं जो धन वृद्धि में बाधक होता है।

जल का निकासी 

बहुत से लोग इस बात का ध्यान नहीं रखते हैं कि उनके घर का पानी किस दिशा में निकल रहा है।  जिन लोगो के  घर में जल की निकासी दक्षिण अथवा पश्चिम दिशा में होती है उन्हें जरूर ही  आर्थिक समस्याओं के साथ अन्य कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उत्तर दिशा एवं पूर्व दिशा में जल की निकासी आर्थिक दृष्टि से बेहद शुभ माना गया है।







Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

Hinduism