साउथ-वेस्ट में मुख्य दरवाज़ा - बड़ा वास्तु दोष

साउथ-वेस्ट (नैऋत्य कोण) वास्तु शास्त्र की सबसे महत्वपूर्ण दिशा होती है. इस दिशा के  कारक ग्रह राहु देव होते है. इस दिशा में घर के मैन गेट का होना एक बड़ा  वास्तु दोष माना जाता है जो आपको हर तरह की परेशानी देने की क्षमता रखता है. आइये जानते है क्या परेशानियां आती है और क्या हो सकता है इस वास्तु दोष का उपाय।।।।।








south-west-main-door-vastu-dosh-in-hindi

जैसा की मैंने आपको बताया के इस दिशा के  कारक ग्रह राहु देव होते है राहु देव का सम्बन्ध स्थायित्व से होता है, कोई भी अचानक आने वाली परेशानी या धन लाभ भी राहु से देखा जाता है. ज्योतिष शास्त्र में राहु को गति का कारक माना जाता है. हालाँकि यही दिशा कुछ लोगो को अनगिनत पैसा व् समृद्धि देती है. लेकिन इसके बारे में बाद में चर्चा करेंगे।
यदि इस दिशा में आपका मुख्या द्वार आ जाये तो ये चिंता की बात होती है. वास्तु टिप्स- ये तस्वीरें घर में नहीं लगानी चाहिए

सबसे बड़ी जो परेशानी आती है वो ये के जिंदगी में स्थायित्व (stability) नही रहती आदमी इधर उधर ही भागता रहता है. काफी लोगो से सुनने को मिलता है के इस तरह के घर में प्रवेश करते ही काम-धंधा बिलकुल रुक गया है. मानसिक शांति नही रहती।  क़र्ज़ का बोझ ज्यादा परेशान  करता है,  ऐसे  घरवालो को हम लोन न लेने की सलाह देते है क्यूंकी ऐसे दोष वाले घरो से ऋण एक बार आने पर समाप्त नही होता। अचानक दुर्घटना की दिशा यही बनती है. 

नैऋत्य कोण में मैन गेट का एक और रहस्य ये है यहाँ पर मुख्य दरवाज़ा होना से  या इस दिशा में कोई भी वास्तु दोषा होने से हमारे शरीर का  मूलाधार चक्र (ROOT CHAKRA) खराब या बिगड़ जाता है.ये चक्र हमारे शरीर का सबसे पहला चक्र होता 
है जो की पृथ्वी तत्व को दर्शाता है जब वयक्ति का पृथ्वी तत्व बिगड़ता है तो जिंदगी में स्थायित्व आना मुश्किल हो जाता है साथ घर में बचत व् बरकत होना मुश्किल होता है. जिस वयक्ति का पृथ्वी तत्व बिगड़ जाये उसके बाकि चक्र भी बिगड़ना निश्चित है.

                      

इसी लिए वास्तु शास्त्र में नैऋत्य कोण सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण कोण बनता है यदि ये कोण खराब है चाहे आप ईशान कोण की मदद से लाखों रूपया कमा सकते है लेकिन एक भी रूपया बचा नही सकते व् और ना ही अपनी लाइफ से संतुष्ट हो सकते हो वही यदि आपका ईशान कोण खराब है और नैऋत्य कोण अच्छा है तो चाहे आपकी आमदनी मामूली हो लेकिन उसमे भी आपको बचत होगी व् मन में संतुष्टि भाव रहेगा।



अब बात आती है उपायों  की, के यदि इस दिशा में मैन गेट बन ही गया है और कोई रास्ता नही नज़र आता. जानते है



इस दोष को कम करने के वास्तु उपाय   (vastu remedies of south-west entrance in hindi)


 as profession yaha par aap yellow color ki patti dehleez par laga sakte hai, is se negative effect low ho jaate hai. 


yadi alternate entrance hai to uska upayog karna chahiye. 

  • इस दिशा में भारी दरवाज़ा ही उपयोग करे कोशिश करे की दरवाज़ा लोहे का हो.
  • पीले रंग का यहाँ जरूर उपयोग करना 
  • दरवाज़े का रंग  स्किन, भूरा हो. 
  • दरवाज़े के बाहर एक कोन्वेक्स (convex) शीशे का उपयोग करे 
  • यदि आपका घर है तो मुख्य दहलीज़ के नीचे कॉपर की तार लगाये। 
  • दरवाज़े के अंदर की और कॉपर के कई प्रयोग  होते  है जैसे कॉपर के सिक्के लगाना या पिरामिड लगाना, उपयोग कर सकते है वास्तु शास्त्र में कॉपर का महत्व


  • यदि हो सके तो उत्तर दिशा में एक दरवाज़ा  बना लें इससे भी दोष कम होगा 
  • घर में अंदर की और camphor lamp का भी उपयोग कर सकते है 
  • इस दिशा में  किसी भी फव्वारे या पानी की वस्तु  या शोपीस का इस्तेमाल न करे 
  • और उपाय या कंसल्टेंसी के लिए हमारे फेसबुक पेज पर संपर्क करे 







Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

from the web

loading...

Hinduism