search here

शनि और मकान - shani aur makaan

shani-and-makaan


लाल किताब के अनुसार मकान पर शनि का स्वामित्व होता है इसीलिए मकान बनवाते समय शनि की स्थिति देखनी जरूरी होती है. शनि का अलग भावो में मकान पर अलग अलग प्रभाव होता है जानते है है शनि के अलग अलग भावो में बैठने से मकान पर क्या प्रभाव पड़ेगा।








  • यदि शनि पहले घर में हो तो लाल किताब के अनुसार मकान नही बनवाना चाहिए ऐसा करने से वह निर्धन हो जाएगा। लेकिन यदि खाना नंबर 7 और 10 खाली है तो ऐसी स्थिति नही बनेगी।
  • शनि यदि दूसरे घर में हो तो मकान बनवाना शुभ ही रहेगा। जातक कभी भी घर बनवा सकता है. 
  • शनि तीसरे घर में होने पर मकान नही बनवाना चाहिए यदि बनवाना है पहले तीन कुत्ते पालने चाहिए तब जाकर मकान शुभ फल देगा। 
  •  चौथे घर में शनि हो तो मकान बनवाने से ससुराल पक्ष को परेशानी आती है इसलिए चौथे शनि वालो को मकान नही बनवाना चाहिए। बना- बनाया मकान ले  सकते है. 
  • पांचवे शनि वालो मकान 48 की उम्र के बाद बनवाने चाहिए इससे पहले मकान बनवाना संतान को कष्ट देगा लेकिन पांचवे शनि वालो की संतान के बनाये घर में फायदा होगा 
  • छठे शनि 39 के बाद मकान बनवाना अच्छा रहता है. 
  • सातवे शनि को बने बनाये मकान मिलते है जो उनके लिए शुभ भी रहते है उन्हें कोशिश ये करनी चाहिए की जब की पुराना  मकान बिक रहा हो तो उसकी चोखट को संभाल कर रखे.
  • आठवें शनि वालो मकान बनाने से बचना चाहिए 
  • नौवे में शनि वाले को तीन मकान बनाने से बचना चाहिए।
  • दसवें खाने में शनि वाले को 36 से 48 के बीच में मकान बनाना चाहिए वैसे ये लोग जब तक मकान नही बनाते पैसा आता रहता है.
  • ग्यारहवें भाव में शनि वाले लोगों को मकान या 36 से पहले या 55 के बाद ही बनवाना फायदा देगा 
  • बारहवें में शनि वाले लोगो मकान अपने आप ही बन जाता है लेकिन यदि मकान बन  उसे बीच में हो न छोड़े जैसा बन रहा है बंनने दे.

No comments:

Post a Comment

astro services

सलाह ले लिए contact करें यहाँ click करें