ग्रह के अनुसार रत्न - gemstones as per planets in astrology



ज्योतिष के प्रमुख ग्रंथ वृहद्संहिता जिसे आचार्य महर्षि वराहमिहिर ने लिखा है में सर्वप्रथम रत्नों के बारे में उल्लेख मिलता है| ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर ग्रह के कुछ रत्न होते है जिन्हे धारण करने से समबन्धित ग्रह का प्रभाव बढ़ जाता है. हालाँकि कुछ ज्योतिष ग्रन्थ Gemstones  को महत्व नही देते। आइये जानते है ग्रहो के अनुसार रत्न कौन से होते है










ज्योतिष शास्त्र में नौ प्रमुख रत्न तथा शेष उपरत्न माने जाते हैं। इसके अतिरिक्त 84 अन्य उपयोगी रत्नों का भी वृहद्संहिता में संपूर्ण विवरण दिया गया है |  इन रत्नो के  औषधीय उपयोग में भी होते  है|  इन नौ प्रमुख रत्नों का नवग्रहों से संबंध माना जाता है आइये जानते है इनके बारे में 


GEMSTONE FOR SUN

सूर्य का stone माणिक  है। SUN  को बल देने के लिए  माणिक को सोने की अंगूठी में, अनामिका अंगुली में रविवार के दिन पुष्य योग में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है ।

GEMSTONE FOR MOON

चन्द्रमा को शक्तिशाली बनाने में मोती का विशेष महत्व है। इसे चांदी की अंगूठी में शुक्ल-पक्ष सोमवार को रोहिणी नक्षत्र में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है


GEMSTONE FOR MARS

मंगल को बली  बनाने में मूंगे (red coral ) का बहुत महत्व है। इसे सोने की अंगूठी में  मंगलवार को धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है।।



GEMSTONE FR MERCURY

पन्ना बुध ग्रह का प्रधान रत्न माना जाता है पन्ना समान्यता पांच रंगों में पाया जाता है। मयूर पंख के रंग वाला पन्ना श्रेष्ठ माना जाता है. jyotish shastra  के अनुसार  पन्ना सबसे छोटी उंगली में सोने  अंगूठी में बुधवार को प्रात:काल उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है।


GEMSTONE FOR JUPITER

गुरु ग्रह को शक्तिशाली बनाने में yellow sapphire पुखराज का बहुत महत्व माना जाता है।  पुखराज को सोने की अंगूठी में तर्जनी अंगुली में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है ।


GEMSTONE FOR VENUS

शुक्र को मजबूत बनाने में हीरे का बहुत ही महत्व है।  हीरे को मृगशिरा नक्षत्र में बीच की अंगुली में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है।



GEMSTONE FOR SATURN

शनि ग्रह का शुभ प्रभाव बढ़ाने के लिए नीलम को मध्यमा अंगुली में शनिवार को श्रवण नक्षत्र में पंचधातु की अंगूठी में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है।



GEMSTONE FOR RAHU

राहु ग्रह के लिए  गोमेद को  में बुधवार या शनिवार को धारण करना चाहिए। GOMED  को पंचधातु में मध्यमा अंगुली में पहनना लाभदायक होता है।


GEMSTONE FOR KETU

केतु ग्रह के लिए  लहसुनिया को गुर पुष्य योग में गुरुवार के दिन सूर्योदय से पूर्व धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है। इसे पंचधातु में मध्यमा अंगुली में पहनना लाभयक होता है।



PLEASE NOTE -

हालाँकि कोई भी stone astrologer की सलाह से ही पहनना चाहिए जो आपको दशा व् गोचर के हिसाब से सही रत्न व् उपाय बता सकते है 








Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

from the web

loading...

Hinduism