मूलांक से जाने संभावित रोग - know disease with help of numerology


अंक शास्त्र के अनुसार आपकी जन्म तारीख से भी अनुमान लगाया जा सकता है के आपको किस तरह की बीमारी आ सकती है. आपको कौन-से रोग सता सकते हैं इसका संबंध आपके मूलांक से भी है। जानें आपको कौन-कौन से diseases  हो सकते हैं।








disease from ank-shastra in hindi 

अंक 1 (जन्म तारीख: 1, 10, 19, 28) : मूलांक 1 वाले व्यक्ति को पित्त से संबंधित बीमारियां परेशान करती हैं। numerology  के अनुसार मूलांक 1 वाले लोगों को दांत के रोग, heart problem , सिर दर्द, मूत्र संबंधी रोग, नेत्र रोग आदि होने की संभावना रहती है।



अंक 2 (जन्म तारीख: 2, 11, 20, 29) : मूलांक 2 के लोगों को आंतों में सूजन, गैस के रोग, tumor , फेफड़ों, मानसिक दुर्बलता संबंधी रोग आदि होने की संभावना रहती है।




अंक 3 (जन्म तारीख: 3, 12, 21, 30): मूलांक 3 वाले लोगों को पीठ व पैरों में दर्द, चर्म रोग, स्नायु तंत्र यानी nervous system  के रोग, गैस, हड्डियों के दर्द का रोग, गले का रोग और लकवा होने की आशंका रहती है।




अंक 4 (जन्म तारीख: 4, 13, 22, 31) : मुलांक 4 वाले लोगों को सांस की बीमारियां, दिल के रोग, blood pressure , पैरों में चोट, अनीमिया, नींद की समस्य़ा, आंखों की समस्या, सिरदर्द, पीठ दर्द आदि की शिकायत हो सकती है।




अंक 5 (जन्म तारीख: 5, 14, 23) : मूलांक 5 के लोगों को आमतौर पर अपच और असिडिटी की समस्या से दो-चार होना पड़ता है। मानसिक तनाव, सिरदर्द, जुकाम, कमजोर नजर, हाथ और कंधों में दर्द, लकवा जैसे रोग होने की संभावना रहती है।




अंक 6 (जन्म तारीख: 6, 15, 24) : जिन लोगों का मूलांक 6 है उन्हें गले, गुर्दे, छाती, मूत्र- विकार, हृदय रोग एवं गुप्तांगों के रोग, डायबीटीज, पथरी, फेफड़ों के रोग आदि होने की संभावना रहती है।




अंक 7 (जन्म तारीख: 7, 16, 25) : मूलांक 7 के लोगों को बदहजमी, पेट के रोग, आंखों के नीचे काले धब्बे, सिरदर्द, खून की खराबी आदि की संभावना रहती है। फेफड़े संबंधी रोग, चर्म रोग और याददाश्त की कमजोरी का सामना भी करना पड़ सकता है।




अंक 8 (जन्म तारीख: 8, 10, 19, 28): मूलांक 8 के लोग लीवर के रोग, वात रोग सता सकते हैं। इसके अलावा, इन्हें मूत्र-संबंधी रोग आदि की संभावना है। इसके अलावा इन्हें डिप्रेशन की शिकायत होने की संभावना रहती है।



अंक 9 (जन्म तारीख: 9, 18, 27): मूलांक 9 वाले लोगों को पेट के विकारों, आग से जलने, मूत्र प्रणाली में विकार, बुखार-सिरदर्द, दांत के दर्द,  रक्त विकार, चर्म रोग आदि।





Comments

Unknown said…
GOOD bacha ko after 30 do or donot ke list mcd davarra de denni chahiye modi g!!!

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

from the web

loading...

Hinduism