गायत्री मंत्र से होते है स्वास्थ्य के साथ ज्योतिषीय लाभ - benefits of reciting Gayatri mantra in hindi



हिन्दू मान्यताओं में सभी मंत्रो में  गायत्री मंत्र सबसे पहले  आता है. इस मंत्र के जपने से अनेक तरह के लाभ मिलते है. ये लाभ ज्योतिष, वास्तु के साथ साथ आपके स्वास्थ्य से भी जुड़े होते है. आइये जानते है गायत्री मंत्र के जपने से होने वाले लाभ 






Benefits of reciting Gayatri mantra in astrology, vastu shastra & health in  hindi 



गायत्री मंत्र का सबसे पहला word है ओम, इसके जपने से  पहला असर दिमाग पर दबाव है जिससे हार्मोन बैलेंस होने से दिमाग शांत हो जाता है.

gayatri mantra ke fayde in hindi


इस मंत्र के बोलने  से शरीर में हाइपोथैलमस ग्लैंड से हारमोन का स्त्राव होता है. साइंस कहता है के ये हार्मोन इंसान में गंभीर बीमारियों से लड़ने की क्षमता को मजबूत करते हैं.





 gayatri mantra ko padne se dimag bahut shant hota hai jisse एकाग्रचित होने में आसानी रहती है. वयक्ति अपनी परेशानियों के बारे आराम से सोचता है साथ ही students अपनी पढ़ाई पर focus कर सकते है.



जब हम गायत्री मंत्र का उच्चरण करते है तो हमारी साँस लम्बी हो जाती है. सांस लम्बी होने से शरीर की काफी सारी  परेशानियां अपने आप समाप्त हो जाती है. रक्त संचार अच्छा होता है. इसके उच्चारण से अस्थमा रोगियों को काफी फायदा हो सकता है.



gayatri mantra के जाप से दिल और दिमाग शांत होने से आपके चेहरे पर शांति का भाव आ जाता है जिससे चेहरा कुछ दिन अपने आप चमकदार हो जाता है. साथ ही अच्छे ब्लड सर्कुलेशन से चेहरे के दाग धब्बे मिट जाते है.




अगर ज्योतिषीय ज्ञान की और जाये तो ये मंत्र सूर्य देवता के लिए है. इसके उच्चारण से सूर्य ग्रह मजबूत होता है जो की मान सम्मान और सरकारी कामों के लिए जरूरी है. 




चक्र थेरेपी के हिसाब से सबसे पहले जब हम ॐ शब्द बोलते है तो मूलाधार चक्र का जोर लगता है. अगर लगातार इस मंत्र का जाप करे तो ये चक्र जागृत होता है जिससे वयक्ति को काफी सारी शारीरिक व् आर्थिक परेशानियों से मुक्ति मिलती है. 




वास्तु शास्त्र में जब कोई वास्तु दोष घर में होता है तो जिस हिस्से में ये दोष होता है वहाँ से नकारात्मक ऊर्जा निकलती है जो काफी हद तक सबसे पहले वयक्ति के दिमाग पर असर डालती है. इस मंत्र के साधक की प्रतिरोधक क्षमता इतनी बढ़ जाती है के वो इससे निकलने वाली negative energy को आराम से पचा लेता है absorb कर लेता है. 




गायत्री मंत्र के पुरे मंत्र में शरीर के हर चक्र पर दबाव पड़ता है. इसका हर शब्द अपना महत्व रखता है. इसका सबसे ज्यादा असर हमारे दिमाग की कार्यशैली पर पड़ता है जिसको ठीक करके  किसी भी समस्या के  हल निकल सकते है. 




फेंगशुई से लाएं करियर में तेज़ी


वास्तु शास्त्र में कौन से तस्वीर कहाँ लगाएं

Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

Hinduism