search here

वास्तु शास्त्र के नाम पर कुछ झूठी बातें - common myths about vastu shastra remedy


वास्तु शास्त्र के नाम पे ठग्गी भी खूब चलती है. कुछ बाते ऐसी बताई जाती है जिनका वास्तु शास्त्र में उल्लेख तक नही है. किसी भी मकान की कीमत बढ़ाने या घटाने के नाम पर या वास्तु दोष दूर करने के नाम पर न जाने कितनी बाते लोगों को बताई जाती है. उन्ही में कुछ बाते हम आपको बताते है जो की वास्तु के नाम पर एक मिथक (myth) है 







दक्षिण मुखी - जो हमारे पास सबसे ज्यादा लोग पूछते है वो सबसे पहले यही कहते है के जी हमारा घर दक्षिण मुखी (south facing) है हमें उपाय बता दो. अरे अगर साउथ फेसिंग घर ले लिया तो क्या हो गया. साउथ फेसिंग घर कोई वास्तु दोष नही होता। अगर देखा जाये तो साउथ फेसिंग वास्तु के अनुरूप बना हुआ घर या शॉप सबसे ज्यादा wealthy देखि गयी है. 


पिरामिड - ये बात सच है के पिरामिड किसी भी वास्तु दोष को समाप्त कर सकता है लेकिन इसका उपयोग भी करना आना चाहिए। ऑनलाइन या फेसबुक पर लोग सिर्फ pyramid देखते है खरीदते है और रख देते है जिसका उलट असर भी देखा गया है. 


मंदिर - वास्तु शास्त्र में बताया जाता है के mandir के पास का घर नही लेना चाहिए। लेकिन इसके भी बहुत सारे नियम है. जैसे मंदिर ध्वज, बुर्जी, दरवाज़ा, दिशा  आदि. सिर्फ ये नही है के temple के पास घर है तो negative ही रहेगा। 


गौ मुखी - शेर मुखी  - गौ मुखी घर और शेर मुखी दुकान को बहुत शुभ माना जाता है लेकिन ऐसा कुछ नही है. इन प्लॉट्स में भी लोगों को दुखी देखा गया है. 



यन्त्र - वैदिक वास्तु में वास्तु दोष निवारक यन्त्र के बारे में उल्लेख मिलता है. लेकिन इसका उपयोग करना एक जानकार वयक्ति के ही बस में है. ऑनलाइन  के जमाने में ये यन्त्र ले लेना और संभाल कर रख लेना वास्तु दोष का अंत नही करने वाला. 



24 घंटे में असर - अगर ऐसा कोई मिले तो कृपा हमें  भी बता देना। वास्तु शास्त्र में दिशा और दोष के हिसाब से उपाय किये जाते है कुछ दोष  ऐसे भी होते जिनका निवारण समय की demand करता है, जैसे किसी प्रॉपर्टी में की जान 10 साल से परेशान है पैसे की तकलीफ बहुत ज्यादा है तो वास्तु उपाय करने के बाद 24 घंटे या हफ्ते भर में करोड़पति नही होने वाले। अगर किसी वयक्ति को कब्ज़ की भी शिकायत है तो भी allopathy या आयुर्वेद में भी 6 महीने से पहले इलाज़ नामुमकिन होता है.  

हालाँकि कुछ उपाय तुरंत असर देते है लेकिन major defect का effect आने में समय लग जाता है.




असामान्य बालक का वास्तु से संबंध - abnormal children's vastu dosh




कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल

No comments:

Post a Comment

astro services

सलाह ले लिए contact करें यहाँ click करें