वास्तु से जुड़े वेद व् ग्रन्थ (vedas and granth related to vastu )

वास्तु से संबंधित वेद में सबसे नाम आता है ऋग्वेद का. ऋग्वेद में इस बात का उलेख है के किसी भी भवन का निर्माण करने से पहले " वास्तु सप्तिदेव" की पूजा की जानी चाहिए।

 इसके अलावा वास्तु से जुड़े दो प्राचीन ग्रन्थ है " विश्वकर्मा प्रकाश " और समरंगन सूत्रधार" .  इसके अलावा धार्मिक ग्रंथों में महाभारत और रामायण एवं मत्स्य पुराण में भी वास्तु शास्त्र का उल्लेख मिला है.



Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

from the web

loading...

Hinduism