क्या होता है अस्त ग्रह - combust planet meaning in hindi



vedic astrology के अनुसार जब  कोई ग्रह जब सूर्य के  पास आ जाता है तो सूर्य के सबसे गर्म और तेज़ होने के कारण वह ग्रह अपनी शक्ति खो देता है या कमजोर हो जाता है. इसे अस्त ग्रह (combust planet) भी कहते है. इसके लिए ज्योतिषी को ग्रहों के अंश देखने पड़ते है. 











combust planet astrology  in hindi 




हर ग्रह की एक अंश अनुसार सूर्य के निकट आने से ग्रह अस्त माना जाता है. 


degree for combust planets 



चन्द्रमा - 12 degree 

गुरु - 11 डिग्री


शुक्र - 10 degree 


बुध - 14 degree

शनि - 15 degree

मंगल - 17 डिग्री 


राहु-केतु छाया ग्रह होने के कारण कभी भी अस्त नहीं माने जाते. 



janm kundali में ग्रह अस्त होने से उसके बल में कमी आ जाती है. इसके लिए पहले कुंडली का सही से analyse  करना चाहिए। और अस्त ग्रह का उपाय करना चाहिए। इसके लिए पहले अस्त ग्रह की जरूरत पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए। यदि उसे बल देना जरूरी है तो ही बल देना चाहिए. 

combust planet की remedy के लिए stones और मंत्रो का सहारा लिया जाता है. 


Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

from the web

loading...

Hinduism