वैदिक ज्योतिष में लव अफेयर और लव मैरिज





आज के समय में सबसे ज्यादा लोग ये ही पूछते है के हमारी लव मैरिज होगी या अरेंज मैरिज. वैदिक ज्योतिष में लव मैरिज के लिए भी योग बताये गए है जिनसे बताया जा सकता है के लव मैरिज होगी या नहीं. आइये जानते है इन योगो के बारे में. 












love marriage conditions in vedic astrology


वैदिक astrology में इन बातों का अनुमान लगाया जाता है के जातक का मन किस ओर जा सकता है. कुछ लोग सिर्फ affair करते है और कुछ उस affair को marriage में convert करते है. आज बात करते है love affair और love marriage की. 


love affair and love marriage  


5th house love, creativity, relation, social circle से सम्बन्ध रखता है, इस भाव में राहु आने पर व्यक्ति लव अफेयर की और जा सकता है, इस भाव का सम्बन्ध 9 भाव से होने पर या 9th lord के साथ होने पर affair होता है, इसके अलावा 5th lord या 9th lord की दशा या अन्तर्दशा आने पर भी affair देखे गए है. 


राहु का सम्बन्ध 5th lord की राशि या उच्च राशि से भी हो जाये तो भी affair होगा.  लेकिन अब बात आती है शादी की 7th house या उसका स्वामी इसमें शामिल नही हो रहा तो सिर्फ affair ही होगा शादी नहीं. 


5th lord व् 7th lord व् घर का किसी भी तरफ सम्बन्ध लव मैरिज की और ले जायगा।


 यदि 7th lord का सम्बन्ध सूर्य या मंगल से हो जाये तो जातक में लव मैरिज करने के लिए एक अलग आग सी मन में होती है. उस जातक का बचपन से ही ध्यान इस तरफ हो सकता है और साथ में लगन स्वामी का सम्बन्ध आ जाए तो love marriage 100% होती है. 


सप्तमेश के साथ राहु का सम्बन्ध भी love marriage की और धकेलता है. 


कही से भी 7th lord अगर कमजोर जो रहा है या शुक्र ग्रह अशुभ हो रहा है तो भी लव मैरिज नहीं हो पाती. 

Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

from the web

loading...

Hinduism