search here

वैदिक ज्योतिष में बृहस्पति ग्रह का महत्व - JUPITER IN ASTROLOGY IN HINDI

वैदिक ज्योतिष में बृहस्पति ग्रह का महत्व - JUPITER IN ASTROLOGY IN HINDI


ज्योतिष में बृहस्पति ग्रह सबसे बड़ा ग्रह है, एस्ट्रोलॉजी में इसे पुरुष ग्रह, सात्विक प्रवृति का ग्रह माना गया है. ज्योतिष में क्या है गुरु ग्रह का महत्व आइये जानते है. 













jupiter and astronomy


ये solar system में सबसे बड़ा ग्रह है और सूर्य से दुरी में पांचवे नंबर पर आता है. इसकी sun से distance 7783 million kms है. इसमें earth की तरह magnetic fields होती है. 



juptier and astrology in hindi 


astrology में इसकी direction northeast मानी  गई है. jyotish में इस ग्रह को बुद्विमानी और विस्तार से जोड़ कर देखा जाता है (jupiter relates with wisdom & expansion). यह  ग्रह बड़े होने की भावना, status की चाहत उतपन्न करता है. 


कोई भी शुभ कार्य, रीती रिवाज़ jupiter से जुड़ा होता है (it is related with ceremony and rituals). इसकी हंसी गर्जने वाली व्  दिल से होती है. एक अच्छा character गुरु ग्रह ही देता है. 


ये बहुत ज्यादा खाने-पीने, मोटे होने, और बहुत ज्यादा शिकायत करने से जुड़ा ग्रह माना गया है. तुच्छ और cheap लोगों से जुड़ कर अपने आप को fail कर लेना नीच बृहस्पति की निशानी है. 


किसी व्यक्ति की जड़ो से ये ग्रह जुड़ा होता है, plants में ये केले व् कद्दू का ग्रह है. 



rulership of Jupiter - rashi 


ये धनु और मीन राशि का स्वामी है, कर्क राशि (5 degree तक) में गुरु उच्च का होता है (jupiter exalts in cancer sign), मकर राशि में नीच... 



METAL - GOLD सोना 

GEMSTONE - YELLOW SAPPHIRE - पुख़राज़ 

TASTE - स्वाद = मीठा 



No comments:

Post a Comment

astro services

सलाह ले लिए contact करें यहाँ click करें