उत्तर दिशा के मुख्य द्वारों के प्रभाव - north main door effects vastu

उत्तर दिशा के मुख्य द्वारों के प्रभाव - north main door effects vastu



आज चर्चा करते है उत्तर मुखी घरों में कौन से मुख्य द्वार कैसा फल देते है. वास्तु पुरुष मंडल के अनुसार उत्तर दिशा के कुल 8 तरह के द्वार बनते है आइये जानते है उनका क्या क्या प्रभाव होता है. 











north facing house entrances 


उत्तर दिशा compass से 315 डिग्री से शुरू होकर 45 degree तक मानी जाती है. इस 90 डिग्री के फर्क को 8 बराबर भागों में बाँट दे. (360 डिग्री का चक्र होता है. 315 - 360 = 45 + 45 = 90 )


इन आठ हिस्सों में main door होने का अलग अलग असर घर पर पड़ता है. क्या है ये असर आइये जानते है. (पोस्ट में दी हुई pic से इन देवताओं के नाम पढ़ सकते है.)






रोग - इस कोण में मुख्य द्वार होने से व्यक्ति अनजाने शत्रुओं से परेशान रहते है, पूरा समय व् धन दुश्मनी में ही निकलता है 



नाग  - धन का नुकसान होता है, साथ ही बुरे कर्म वाले लोग मिलते है. नज़र दोष ऐसे घरों में होता है. 



मुख्या - ये द्वार शुभ माना गया है , धन प्राप्ति होती रहती है. 


भल्लाट - जमीन - जायदाद बनती है, अत्यधिक धन कमाता है. 


सोम - कुबेर  - कुछ हद तक ठीक ही होता है, चरित्र धार्मिक होता है. 


भुजग - ऐसे घर में मुखिया का या सभी लोगो का स्वभाव नकारात्मक या समझ से बाहर हो जाता है, जिसके कारण इन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है. 


अदिति - कई मामलों में अच्छा होता है लेकिन बच्चे खासकर कन्या का अपने धर्म या परम्पराओं में विश्वास कम हो जाता है. 


दिति - दिमाग तेज़ होता है, ऐसी entrance होने पर अत्यधिक धन आगमन देखा गया है. 



ये द्वार विश्वकर्मा प्रकाश के अनुसार बताये गए है, जो की एक घर (residential property) पर लागू  होते है. यदि एंट्रेंस गलत कोण में है तो भी उसका उपाय किया जा सकता है और अच्छे रिजल्ट्स लिए जा सकते है वो भी बिना तोड़ फोड़ के. 












Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

Hinduism