राहु - केतु का मिथुन-धनु राशि में फल

राहु - केतु का मिथुन-धनु राशि में फल, rahu in Gemini sign and ketu in Sagittarius sign meaning


आज बात करते है यदि राहु मिथुन राशि में हो और केतु धनु राशि तो पिछले जन्म में जातक किस तरह का था, और इस जन्म किस स्वभाव का हो सकता है. 










rahu in Gemini sign and ketu in Sagittarius sign meaning


ऐसे जातक ने अपनी पिछली जिंदगी एक दार्शनिक या एक रहस्यमय लक्ष्य के लिए जी थी. उसे आज़ादी वाली जिंदगी पसन्द होती है. अपनी पिछली जिंदगी में ऐसे लोग अपने sense of humor के कारण एक सराहनीय व्यक्ति थे. 




यदि ऐसे लोग चाहकर भी अपने आप को अलग थलग करें और अपने आप को सोसाइटी से अलग करे तो भी नियति ऐसा नही करने देती. इनके पास ऐसी क्षमता है की ये लोग किसी के बारे में पहले ही बता दे के उसके साथ ऐसा हो सकता है. शायद ही इन्हें लाइफ में अच्छे चांस बहुत कम मिलते है. 








Comments

services

Popular posts from this blog

5 सबसे बड़े वास्तु दोष- 5 biggest vastu dosh

दुकान व शोरुम के लिए वास्तु टिप्स - vastu tips for shop and showroom in hindi

कैसे और क्यों उपयोग करते है घोड़े की नाल - black horse shoe benefits in hindi

Hinduism